भारत में प्याज बारबार महगी क्यों हो जाती है ?

भारत में प्याज बारबार महगी क्यों हो जाती है

भारत में प्याज बारबार महगी क्यों हो जाती है

अक्सर आपने देखा होगा की भारत में प्याज बारबार महगी हो जाती है ! तो क्या वजह है की हर दो-तीन साल में प्याज इतनी महगी हो जाती है इशके पीछे कई कारन है ! तो चलिए समजते है की – भारत में प्याज बारबार महगी क्यों हो जाती है ?

भारत में प्याज बारबार महगी क्यों हो जाती है ?

1. बहोत ज्यादा खपत :- 

दरअसल भारत में चाहे आप शाकाहारी खाना देख ले या मांशाहारी, दोनों में प्याज का खूब इस्तेमाल होता है ! भारत सरकार के आकड़ो के मुताबित भारत में प्रति हजार व्यक्ति पर 908 व्यक्ति प्याज खाते है ! भारत में प्याज का उद्पादन सभी राज्यों में नहीं होता, कृषि मंत्रालय के मुताबित २.3 करोड़ टन प्याज का उद्पादन होता है ! इशका 36% उद्पादन महाराष्ट्र, 16% मध्यप्रदेश, 15% कर्नाटक 6% बिहार और 5% उद्पादन राजश्थान में होता है ! बाकी राज्यों में प्याज का उद्पादन बहुत काम होता है !

2. उद्पादन और भण्डारण ठीक से नहीं होता :-

उद्पादन और भण्डारण ठीक से नहीं होता

भारत में अलग अलग राज्य में पुरे साल प्याज की खेती होती है ! अप्रैल से अगस्त के बिच रवि की फसल होती है ! जिसमें करीब 7% प्याज का उद्पादन होता है ! अक्टूबर के दिसंबर, जनवरी से मार्च के बिच 20-20% प्याज का उद्पादन होता है ! भारत में जून से लेके अक्टूबर तक बारिस का समय रहता है ! उशकी वजह से ज्यादा बारिस होने पर फसल ख़राब होती है ! प्याज के भण्डारो में पहोचते ही परेशानी ख़तम नहीं होती, अगर भण्डार में पहोचने के बाद ज्यादा बारिस हो जाए, तो भण्डार में नमी या पानी आ जाए तो प्याज सड़ जाती है !

3. बाजार का ठीक नहीं होना :-

प्याज का उद्पादन मुख्य 6 राज्यों में होता है ! 50% प्याज भारत की 10 मंदिओ से ही आता है ! उनमे से 6 महाराष्ट्र और कर्नाटक में है ! इशका मतलब ये हुआ की लगभग कुल 100 वेपारियो के हाथो में 50% प्याज की कीमते रहती है ! ये वेपारी अपने तरीके से प्याज की कीमतों को प्रभावित कर सकते है, साथ ही प्याज का नियंत्रण मूल्य भी तय नहीं होता ! ऐसे में पैदावार के समय बड़ी संख्या में प्याज बाजार में पहोच जाता है ! ऐसे में दाम गिर के 1 रुपये किलो तक हो जाता है ! ऐसे में किसान प्याज सड़को पर फेक कर चले जाते है ! साथ ही सस्ते में मिलने में कालाबाजारी शुरू हो जाती है ! इस लिए जब पैदावार का समय नहीं होता तो दाम बढ जाता है !

4. बफर स्टॉक का खराब हो जाना :-

बफर स्टॉक का खराब हो जाना, भारत में प्याज बारबार महगी क्यों हो जाती है ?

दरअसल सरकार हर चीज का एक हिंसा अपने पास सुरक्षित भी रखती है ! जिशसे कभी भी आपातकालीन स्तिति में उशका इस्तेमाल किया जा सके ! इसे बफर स्टॉक कहा जाता है ! केंद्र सरकार 13000 टन प्याज बफर स्टॉक रखती है, लेकिन ये हर साल खराब हो जाता है !

5. राजनीति भी एक कारन है :-

ये आम ट्रेंड है की महाराष्ट्र के विधानसभा में चुनाव के दौरान प्याज महगा हो जाता है ! जानकार बताते है की प्याज का कारोबार करने वाले बड़े वेपारीयो को सम्भन्ध राजनेताओ और राजनैतिक दल से होते है ! चुनाव के समय ये नेता पार्टियो को चुनाव लड़ने के लिए पैसा देते है, चुनाव के लिए दिया जाने वाला पैसा कमाने के लिए वेपारी प्याज के दाम बढ़ाते है ! साथ ही कुछ हिस्सा किशानो को भी पहुँचता है ! जिश्का तत्कालीन लाभ वोट में भी होता है ! इशलिये हर साल प्याज के दाम बढ़ते है !

Disclaimer:- इस लेख में दी गई जानकारी न्यूज़ पेपर्स और इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के आधार पर दी गई है “Gkhindinews.com” इसके सच या जूथ होने का दवा नहीं करता, लेख में इस्तेमाल की गई फोटोज उदहारण के तौर पे दिखाई गई है !

Also Read :-

विश्व में सबसे ज्यादा किस धर्म के लोग रहते है ?

सबसे ज्यादा सोना किस देश के पास है ?

दवाओं के रंग अलग अलग क्यों होते है ?

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial