विश्व में सबसे ज्यादा किस धर्म के लोग रहते है ?

विश्व में सबसे ज्यादा किस धर्म के लोग रहते है

विश्व में सबसे ज्यादा किस धर्म के लोग रहते है

दरअसल वैसे तो पूरी दुनियामे कई धर्म-जाती और सांप्रदायिक के लोग रहते है ! लेकिन इनकी कुल जनसंख्या की बात की जाए तो वह ७.६ बिलियन है ! इस हिसाब से दुनिया में फिलहाल ७.६% बिलियन लोग रहते है ! जो अलग अलग धर्मो को मानने वाले भी है ! लेकिन क्या कभी आपने सोचा है की धर्म के हिसाब से देखा जाए तो विश्व में सबसे ज्यादा किस धर्म के लोग रहते है ?

दरअसल आज हम आपको विश्व में सबसे ज्यादा रहने वाले ६ धर्मो की जनसंख्या बताने जा रहे है ! इन ६ धर्मो को मानने वाले लोग दुनिया में सबसे ज्यादा रहते है ! तो आइये जानते है धर्मो के हिसाब से दुनिया की जनसंख्या के बारे में.

विश्व में सबसे ज्यादा किस धर्म के लोग रहते है ?

1. इशाई :- 

chritian, ishai

इशाई धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में सबसे ज्यादा है ! इनकी जनसंख्या 230 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 32% है !

2. इस्लाम:-

islam

इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में दूसरे सबसे ज्यादा है ! इनकी जनसंख्या 170 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 24% है !

3. हिन्दू:-

hindu, hindu god hanuman statue

हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में तीसरे सबसे ज्यादा है ! इनकी जनसंख्या 110 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 14% है !

4. बौद्ध:-

budhist

बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में चौथे सबसे ज्यादा है ! इनकी जनसंख्या 40 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 5.5% है !

5. शिख:-

shikh, golden temple

शिख धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में पांचवे सबसे ज्यादा है ! इनकी जनसंख्या 2.5 करोड़ है जो विश्व की जनसंख्या के 0.32% है !

6. यहूदी:-

यहूदी धर्म को मानने वाले लोग इस दुनिया में छठवे सबसे ज्यादा है ! इनकी जनसंख्या 1.6 करोड़ जो विश्व की जनसंख्या के 0.02% है !

                 इन सभी आकड़ो को देखकर आप सभी जान गए होंगे की विश्व में सबसे ज्यादा इन ६ धर्मो को मानने वाले लोग रहते है ! दरअसल इनमे सबसे ज्यादा इशाई धर्म के लोग है जो दुनिया के सभी देशो में पाए जाते है ! धार्मिक आजादी के आधार पर ये सभी आकड़े 2010 से 2015 के आकड़ो पर आधारित है ! हालांकि इन आकड़ो में किसी भी धर्म को ना मानने वाले लोगो और पारम्परिक रीतिरिवाज को मानने वाले लोगो को शामिल नहीं किया गया है ! 2010 से 2015 के बिच किसी भी धर्म को ना मानने वाले लोगो की जनसंख्या 15% हुआ करती थी !

हमारा मानना है की इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं हो सकता और ना होगा ! ये सभी आकड़े इंटरनेट स्वे लिए गए है, ईशमे हमारी कोई व्यक्तिगत सोच नहीं है !

Also Read: –

सबसे ज्यादा सोना किस देश के पास है ?

दवाओं के रंग अलग अलग क्यों होते है ?

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial